जिन्दगी जीने में अब वो मज़ा ना रहा,
जबसे मैने इजहार किया मोहाब्बत का
और उसने इनकार कर दिया।

*******सुधीर कुमार सा