रह न पाओगे कभी भुला कर देख लो
यकीन नहीं आता तो आजमा कर देख लो
हर जगह कमी महसूस होगी दीपक की
अपनी महफिल को जितना चाहे सजा कर देख लो