Register

If this is your first visit, please click the Sign Up now button to begin the process of creating your account so you can begin posting on our forums! The Sign Up process will only take up about a minute of two of your time.

Results 1 to 2 of 2
Like Tree1Likes
  • 1 Post By akshayborole

Thread: फ़रियाद

  1. #1
    akshayborole is offline Junior Member
    Join Date
    Aug 2016
    Posts
    1

    फ़रियाद

    हर लंम्हा उन्हें याद किया करते है,
    पल पल उनपर बर्बाद किया करते है,
    फिर भी क्या शिकायत है उन्हें?
    वो हमसे फ़रियाद किया करते है।

    उनसे की मुलाक़ातें! हमारे ख्वाब आबाद किया करते है,
    संभलकर हम खुद को आज़ाद किया करते है,
    फिर भी क्या फितरत है उनकी?
    वो हमसे फ़रियाद किया करते है।

    हमे कुछ खास आता नहीं पर वो दाद दिया करते है,
    ऐसी शायरी उन्हें लिख दिया करते है,
    समझ से बहार है मोहब्बत उनकी या फिर है कोई शरारत उनकी?
    वो हमसे फ़रियाद किया करते है।

    जिस दिन समझ आई उनकी शरारत और फितरत,
    समझ आया वो किसी और से मोहब्बत करते है,
    था हमारा कोई है उनका भी कोई,
    अब हम उनसे फ़रियाद किया करते है।
    अब हम उनसे फ़रियाद किया करते है।
    RavinderRavi likes this.

  2. #2
    RavinderRavi's Avatar
    RavinderRavi is offline Senior Member
    Join Date
    Jan 2013
    Posts
    250
    Nice one.......


Posting Permissions

  • You may not post new threads
  • You may not post replies
  • You may not post attachments
  • You may not edit your posts
  •  
All times are GMT +5.5. The time now is 01:15 PM.
Copyright © 2017 vBulletin Solutions, Inc. All rights reserved.
Copyright 2013 Shayari.in