आज उन यादों की याद आई हैं

दूर है वो हमसे फिर भी
साथ हमारे उनकी परछायी हैं
आज बहुत दीनो के बाद उनकी याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

अकेला ही चल रहा था मैं
और जब मैने सिगरेट सुलगायी हैं कि
उनके दांट की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

मीले हुए उनसे कई दिन हो चुके हैं
कहने को अभी भी कुछ बाकी हैं
आज उनके साथ की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

मेरा इंतज़ार कर रही थी वो
मेरे आने पर जो स्माइल उनके चहरे पर मैने पायी है
आज उनकी मुस्कुराहत की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

बारिश में भीगती आ रही थी वो
किचड़ से लैहंगा बचा रही थी वो
मैन कहा तू छाता नहीं लायी हैं
उसने कहा आज उसने अपनी छतरी भीगने से बचायी हैं
आज उस मुलाकात की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

अपने हाथो से बना खाना लाने को कहा था मैने उसे
तभी किचेन का पता कहाँ पता था उसे
आजकल खुद अपना खाना पकाती हैं
आज उस बाहर वाले इटली की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

कहा था वो दुर जा रही हैं
मैन ही पागल, दूर का मतलब नहीं समझ पाया
आज उनकी बांतो की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

याद करके उसे जो मैने गीत गायी हैं
लोग कहते हैं बेटा क्या सुर लगायी हैं
आज उस रात की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.


मन जब भारी हो जाता था
मैं उनके पास जाता था
उनसे बात करके
बडा सुकून आता था
बडे प्यार् से समझाती थी
और मन बहल जाता था
आज उस दोस्त की याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.

आज बैठे-बैठे तारों को देख रहा था मैं
अनगीनत तारों में उनको ढूंढ रहा था मैं
ना जाने क्यू मेरी नज़रे उन्हे ढूंढ नहीं पायी हैं
आज उन्हे याद कर रहा हूँ इसलिये कि उनकी याद आई हैं
आज उन यादों की याद आई हैं.